Computer, Mobile, Internet and Other Informations in Hindi...

अधिकार का सही उपयोग करें Adhikar ka sahi upyog kren

दोस्तों जितना भला हो सकें, उतना भला करो। अपनी तरफ से किसी का बुरा मत करो। किसी का दिल मत दुखाओं। सभी प्राणियों से प्यार करो। सबके साथ अच्छे से अच्छा बर्ताव करो।

असली नोट कैसे पहचाने - Asli note kaise pahchane

प्रिय दोस्त, आजकल किसी से भी पैसे लेते समय एक ही बात का डर लगा रहता है की कही पैसे नकली तो नहीं है। यदि आप भी इससे परेशान है तो आइये आज ही “असली नोट की पहचान कैसे करे?” इस बारे में जानकारी लेते है।

घर को स्वर्ग बनाने का तरीका - Ghar ko swarg banane ka tarika

दोस्तों क्या आपके घर में आपसी झगड़ा रहता है। क्या आप आपके घर में भी सास – बहु के बीच आपसी तकरार बनी रहती है। इसका एक आसान सा इलाज है। इसे जानने के लिये ये पोस्ट पढ़े।

घमंडी को मिली सजा - Ghamandi ko mili sajaa

गरीब हो या अमिर, साधू हो या ब्राह्मण, राजा हो या रंक सभी से प्रेम पूर्वक रहना चाहिए। हमें भगवान को कभी नहीं भूलना चाहिए। हमें भगवान का नाम लेना चाहिए। यदि कोई हमें राम – राम करता है तो हमें भी उसे राम – राम करना चाहिए।

दो दिन का राजा - Do din ka raja

एक राजकुमार था। उसके दो खास दोस्त थे। एक दिन उसके दोस्तों ने उससे कहा – मित्र जब तुम राजा बन जाओगे तो हमें भुला दोगे या इसी तरह दोस्ती निभाओगे। राजकुमार बोले – नहीं मित्रो मैं तुमसे इसी तरह प्रेमपूर्वक व्यवहार रखूँगा। और ना ही तुम्हे भूलूंगा।

कल्याण कैसे होगा - Kalyan kaise hoga

एक वेश्या के मन में विचार आया की मेरा कल्याण कैसे होगा। अपने कल्याण के लिए वह साधू के पास गई। साधू ने कहा की तुम साधू का संग करो, साधू त्यागी होते है। इसलिए उनकी सेवा करो तो कल्याण होगा। फिर वह ब्राह्मन के पास गई। ब्राह्मण ने कहा साधू तो बनावटी होते है हम जन्म से ब्राह्मन है, ब्राह्मण सबका गुरु होता है, अत: तुम ब्राह्मणों की सेवा करो तब तुम्हारा कल्याण होगा।

चुगलखोर से सावधान Chugalkhor se savadhan

चुगली करना, इधर – उधर की बात फैलाना, द्वेष पैदा करना, बहुत बड़ा पाप है। इसके बारे में ये पोस्ट पढिये।

पाप का बाप कौन है Paap ka baap kaun hai

Who is the father of sin?

एक बार एक पंडित जी काशी से पढाई करके वापिस अपने घर आए। उनकी शादी भी हो गई। कई दिन बीत जाने के बाद एक दिन उसकी पत्नी ने उससे पूछा – पति देव आप बहुत विद्वान है क्या आप मुझे एक प्रश्न का उत्तर दे सकते हो।

भगवान् की कृपा Bhagwan ki kripa

एक बार की बात है। एक राज्य का मंत्री भगवान का बहुत बड़ा भगत था वह हर बात पर "भगवान की बड़ी कृपा हुई" कहता था। एक दिन राजा के बेटे की मृत्यु हो गई। मंत्री ने खबर मिलते ही कहा - "भगवान की बड़ी कृपा हुई"। राजा पास में ही खड़ा था उसे यह बहुत बुरा लगा लेकिन कुछ नहीं बोला।

गणेश जी की आरती Ganesh ji ki aarti

प्रिय मित्र, सनातन संस्कृति में पूजा का अपना एक अलग महत्व है, अब आप इन्टरनेट पर भी आरती पढ़ सकते हैं. इस पोस्ट पर आप गणेश जी की आरती पढ़ सकते हो.

अपनी ई-मेल ID लिखकर Submit पर क्लिक करें।